Month: January 2018

Durg men Sanyogita

Durg men Sanyogita

Click here to Read part ..3 Image credit: Google आर्य-द्रविड़ की धरती भारत, सोने की चिड़ियाँ थी भारत, पड़ी विश्व की नजर कथा उस जम्बूद्वीप की गाता हूँ, क्रूर मुहम्मद गोरी और चौहान का शौर्य सुनाता हूँ|| कौन धर्म कहता है दूसरे धर्मों का अपमान करो, नारी और उनके बच्चों संग दानव सा व्यवहार करो, … Continue reading Durg men Sanyogita

Advertisements
Tarayeen ka Sangram

Tarayeen ka Sangram

  Click here to Read part 2 Image credit: Google हिन्द का अंतिम हिन्दू शासक वीर,धीर,बलवान, नाम से वाकिफ दुनियाँ सारी है भारत का शान, कहता राय पिथौरा कोई,कोई पृथ्वीराज चौहान, वीरों में है वीर महान,गाउँ मैं उसका गुणगान।                                 … Continue reading Tarayeen ka Sangram

MAKAR-SAKRANTI/मकर सक्रांति

MAKAR-SAKRANTI/मकर सक्रांति

Image credit: Google "माघे मासे महादेव: यो दास्यति घृतकम्बलम। स भुक्त्वा सकलान भोगान अन्ते मोक्षं प्राप्यति" मकर सक्रांति,सक्रांति हम लोग मनाते हैं, जब दक्षिणायन से दिनकर उत्तरायण आते हैं, जब दक्षिणायन से दिनकर उत्तरायण आते हैं। मूर्तरूप एकमात्र धरा के दिनकर हैं भगवान्, इनके बिन है जीवन कैसा कौन यहाँ अनजान, पौष मास में शीतलहर … Continue reading MAKAR-SAKRANTI/मकर सक्रांति

Sanyogita Swayamber/संयोगिता स्वयंवर

Sanyogita Swayamber/संयोगिता स्वयंवर

Click here to Read part 1 Image credit: Google हिन्द का अंतिम हिन्दू शासक वीर,धीर,बलवान, नाम से वाकिफ दुनियाँ सारी है भारत का शान, कहता राय पिथौरा कोई,कोई पृथ्वीराज चौहान, वीरों में है वीर महान,गाउँ मैं उसका गुणगान। शौर्य की गाथा पृथ्वीराज का भारतवर्ष में छाया, मन ही मन कन्नौज किशोरी का दिल उसपर आया, … Continue reading Sanyogita Swayamber/संयोगिता स्वयंवर

PRITHVIRAJ CHOUHAN (Part-1)

PRITHVIRAJ CHOUHAN (Part-1)

  Image credit: Google हिन्द का अंतिम हिन्दू शासक वीर,धीर,बलवान, नाम से वाकिफ दुनियाँ सारी भारत का है शान, कहता राय पिथौरा कोई,कोई पृथ्वीराज चौहान, वीरों में है वीर महान,गाउँ मैं उसका गुणगान। सिंह वक्ष,हस्ती बल बाजू,ऐरावत सी चाल, चीते जैसी फुर्ती,आँखे जैसे देखे बाज, निर्बल का वह बल था,दुष्टों का था काल समान, चन्द्रहास … Continue reading PRITHVIRAJ CHOUHAN (Part-1)

Khoti Pehchan/खोती पहचान

Khoti Pehchan/खोती पहचान

Click here to read part.1 Image credit: Google है दास्ताँ सीखा गयी गुलामी बर्षों की अपना असर दिखा गयी गुलामी वर्षों की।। टुकड़ों में कल खड़े यहूदी, बिखर गयी थी भाषा, मगर सोंच थी उनकी वापस, लाई हिब्रू भाषा, सन उन्नीस सौ अड़तालीस में, इस्राईल आजाद हुआ, देशभक्ति के कारण उनका, हिब्रू भाषा आम हुआ, … Continue reading Khoti Pehchan/खोती पहचान