Urmila ki Dasha

Click here to read part-1

सजी ऐसी अवध नगरी,की दुल्हन भी नहीं सजती,
लखन,सिया,राम आये हैं,ख़ुशी कहते नहीं बनती।
सजा आकाश तारों से,
सजी वैसी अवध नगरी,
ख़ुशी से झूमते सारे,
ख़ुशी कहते नहीं बनती,
वहीं ऐसा भी एक कोना,
बिरह की आग में जलती,
बनी पत्थर सी एक मूरत,
किसी की राह है तकती
हैं आँखे उसकी पत्थर सी,
जुबाँ खामोश हैं जिसकी,
है स्वागत गान में शामिल,उर्मिला नाम है उसकी,
लखन,सिया,राम आये हैं,ख़ुशी कहते नहीं बनती।
बिनय लक्ष्मण ने की,
उर्मि उसे आज्ञा बना डाली,
दफ़न कर दर्द माँ कौशल्या की,
वह बन गयी साथी,
बहादुर थे समर जीता,
मगर अपराध को समझे,
बिरह की आग चौदह वर्ष की,
वनवास को समझे,
महल में थे खड़े लक्ष्मण, मगर नजरे नहीं उठती,
लखन,सिया,राम आये हैं,ख़ुशी कहते नहीं बनती।
सजी थी सेज बरसों की,
जो सूनापन लिए बैठी,
बिरह की स्याह रातों की,
सिसकती सेज है हरषि,
मगर फैली है सन्नाटा,
लखन गमगीन हैं ऐसे,
हराये वीर कितने पर,
खड़े निर्जीव के जैसे,
फनकता फ़न धरा जिसपर,
कभी ना हार थी मानी,
उसी शेषावतारी की,
दशा उर्मि ने पहचानी,
ब्रती उर्मि की अखियन से,छलकती प्रेम की मोती,
लखन,सिया,राम आये हैं,ख़ुशी कहते नहीं बनती।
लखन,सिया,राम आये हैं,ख़ुशी कहते नहीं बनती।

0-Eu8ituqpmtEdU10B-

पुरुष का नाम होता है,
तपस्यालीन है नारी,
फनकता मर्द सदियों से,
मगर गंभीर है नारी,
कोई बिनती कोई आदेश,
सब माने वो हंसकर के,
पुरुष की हर ख़ुशी-गम में,
खड़ी सदियों से है नारी,
पुरुष जलता है दीपक सा,
दिए की तेल है नारी,
तपस्या,त्याग,ममता,स्नेह की,
जलधाम है नारी,
डरा यमराज सदियों से,
पतिब्रत धर्म से उसके,
पति की छीन लाती प्राण भी,
यमराज से नारी,
जहां भगवान् नतमस्तक,है जिससे काल भी डरती,
उसी नारी की पीड़ा आज तक,सदियों से ना बदली,
ख़ुशी का आज है मौक़ा,
सजी दुल्हन अवध नगरी,
लखन,सिया,राम आये हैं,ख़ुशी कहते नहीं बनती।

!!! मधुसूदन !!!

sajee aisee avadh nagaree,kee dulhan bhee nahin sajatee,
lakhan,siya,raam aaye hain,khushee kahate nahin banatee.
saja aakaash taaron se,
sajee vaisee avadh nagaree,
khushee se jhoomate saare,
khushee kahate nahin banatee,
vaheen aisa bhee ek kona,
birah kee aag mein jalatee,
vaheen patthar see ek moorat,
kisee kee raah hai takatee
hain aankhe usakee patthar see,
jubaan khaamosh hain jisakee,
hai svaagat gaan mein shaamil,urmila naam hai usakee,
lakhan,siya,raam aaye hain,khushee kahate nahin banatee.
binay lakshman ne kee,
urmi use aagya bana daalee,
dafan kar dard maan kaushalya kee,
vo ban gayee saathee,
bahaadur the samar jeeta,
magar aparaadh ko samajhe,
birah kee aag chaudah varsh kee,
vanavaas ko samajhe,
mahal mein the khade lakshman, magar najare nahin uthatee,
lakhan,siya,raam aaye hain,khushee kahate nahin banatee.
sajee thee sej barason kee,
jo soonaapan lie baithee,
birah kee syaah raaton kee,
sisakatee sej hai harashi,
magar phailee hai sannaata,
lakhan gamageen hain aise,
haraaye veer kitane par,
khade nirjeev ke jaise,
phanakata fan dhara jisapar,
kabhee na haar thee maanee,
usee sheshaavataaree kee,
dasha urmi ne pahachaanee,
bratee urmi kee akhiyan se,chhalakatee prem kee motee,
lakhan,siya,raam aaye hain,khushee kahate nahin banatee.
purush ka naam hota hai,
tapasyaaleen hai naaree,
phanakata mard sadiyon se,
magar gambheer hai naaree,
koee binatee koee aadesh,
sab maane vo hansakar ke,
purush kee har khushee-gam mein,
khadee sadiyon se hai naaree,
purush jalata hai deepak sa,
die kee tel hai naaree,
tapasya,tyaag,mamata,sneh kee,
jaladhaam hai naaree,
dara yamaraaj sadiyon se,
patibrat dharm se usake,
pati kee chheen laatee praan bhee,
yamaraaj se naaree,
jahaan bhagavaan natamastak,hai jisase kaal bhee daratee,
usee naaree kee peeda aaj tak,sadiyon se na badalee,
khushee ka aaj hai mauqa,
sajee dulhan avadh nagaree,
lakhan,siya,raam aaye hain,khushee kahate nahin banatee.
!!!Madhusudan!!!

Advertisements

49 thoughts on “Urmila ki Dasha

  1. ” पुरुष का नाम होता है,
    तपस्यालीन है नारी,
    फनकता मर्द सदियों से,
    मगर गंभीर है नारी ”
    बडा खुबसुरत वर्णन किया है आपने !!

    Like

  2. नारी के कितने रूपों का चित्रण इतने सूंदर तरीके से किया है आपने
    एक एक शब्द अपने अंदर कितना दर्द समेटे हुए है
    बहुत ही प्रसंशात्मक रचना

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s