HADIRANI/हाड़ीरानी

Image Credit : Google.
होंगे जब-जब चर्चे इस दुनियाँ में कोई नारी का,
तब-तब नाम जुबाँ पर आ जाएगा हाड़ीरानी का।
नाम सलूम्बर छोटा सा एक कस्बा था मेवाड़ में,
राजसिंह राणा का शासन चलता था मेवाड़ में,
राव चूडावत छोटा एक सामन्त वहाँ पर रहते थे,
जिनपर राणा राजसिंह जी बहुत भरोषा करते थे,
बूंदी के हाड़ा शासक की बेटी हाड़ीरानी थी,
बचपन से कर्तव्य निभाना सीखी हाड़ीरानी थी,
उनकी जीवन डोर बंधी चूडावत संग मेवाड़ में,
भाग्य की रेखा जा टकराई रानी की मेवाड़ में,
डोला आ पहुँचा बूंदी से चूडावत के आंगन में,
वर्षों बाद खुशी आयी थी वीर चूडावत दामन में,
चर्चे होंगे जब-जब जग में चूडावत बलशाली का,
तब-तब नाम जुबाँ पर आ जाएगा हाड़ीरानी का।1

मेहंदी का रंग मिटा नहीं पैरों में लगी महावर थी,
एक दूजे को समझ सके ना नयन शर्म की चादर थी,
शादी का गठजोड़ खुला ना,ना ही रिस्तेदार गए,
कोलाहल आँगन में थी अपनों से थे घर-द्वार भरे,
तभी अचानक शार्दूल सिंह राणा का पत्र सुनाया,
औरंगजेब ने किया चढ़ाई ये सन्देशा लाया,
घिरे हुए हैं मुगल,सहायक फौज चली है दिल्ली से,
चूडावत तुम उसे रोक लो फौज चली जो दिल्ली से,
औरंगजेब का हार सुनिश्चित घिरा हुआ मेवाड़ में,
जजिया भारी कर देंगे हम मुगलों को मेवाड़ में,
पलभर भी ना देर किया हाड़ा सरदार चला था,
रानी के सम्मुख जाते आंखों में अश्क भरा था,
रुंधे स्वर में बोल पड़ा ना संसय दिल में लाना तुम,
रानी मैं वापस आऊँगा मुझको नहीं भुलाना तुम,
रानी ने गम भांप स्वयं का दर्द छिपा मुँह खोली,
धन्य हुई तुम जैसा वीर पति को पाकर बोली,
थाल सजा दीपक से छत्राणी का फर्ज निभाया,
स्वयं सजा चूडावत को माथे पर तिलक लगाया,
छात्राणि,सेनानी की पत्नी कब शोक मनाती,
जंग करो बिन संसय का हम नारी ना घबराती,
धन्य हिन्द की नारी दर्द दबाकर तिलक लगाती है,
अश्कों का सैलाब छुपा सन्मुख सबके मुस्काती है,
त्याग के जब भी चर्चे होंगे दुनियाँ में जब नारी का,
तब-तब नाम जुबाँ पर आ जाएगा हाड़ीरानी का।2

शादी के दिन सात छोड़ रानी-सरदार चला था,
औरंगजेब की फ़ौज रोकने सीना तान खड़ा था,
प्रेम में विचलित बार-बार संदेशा वह भिजवाता ,
लौट के वापस आएंगे रानी को वह समझाता,
चूडावत ने पत्र संग एक बार निशानी माँगी,
विचलित देख पति को रानी ने भी मन में ठानी,
जीवन मे कर्तव्य कठोर जिसे झुकाता पल-पल मोह,
कर्म डगर से भटक ना जाएं रानी के मन आया सोंच,
दूत को रानी ने समझाया जो थी मन में ठानी
सौंप रही हूँ तुमको जाकर दे दो उन्हें निशानी,
पवन वेग तलवार निकाला,खुद के गर्दन पर दे डाला,
पलभर की ना देर हुई थी धड़ से शीश अलग कर डाला,
धन्य वीर रानी ने खुद को मिटा ज्ञान सिखलाया,
मोहपाश से मुक्त किया कर्तव्य का भान कराया,
वीर कई दुनियाँ में होंगे चर्चे जब भी नारी का,
तब-तब नाम जुबाँ पर आ जाएगा हाड़ीरानी का।3

स्वर्ण थाल में सजा शीश ऊपर सुहाग का चादर,
सैनिक रोता चला वहाँ जँह चढा मोह का चादर,
देख निशानी तड़प उठा था चूडावत सरदार,
आँखों से ममता के बदले बरस उठा अंगार,
नथिया,बिंदी,कान की बाली, होठों पर थी लाली,
तड़प रहा था चूडावत सन्मुख थी हाड़ारानी,
मैंने माँगा एक निशानी क्या कर दी छत्राणी,
शीश काटकर सौंप दिया तूँ कैसा हमें निशानी,
मोहफाँस से मुक्त हुआ था,मुगल सैन्य पर टूट चुका था,
रानी का मुंडमाल पहन मुगलों का हाड़ा काल हुआ था,
मुगलों की थी फौज अपार,रौंद रहा हाड़ा सरदार,
समझ सका ना फौज मुगलिया कैसा सम्मुख आया काल,
उधर मेवाड़ी जीत गए थे औरंगजेब की हार हुई,
इधर जान थी जबतक तन में हाड़ा की तलवार चली,
जंग फतह का किसे श्रेय दूँ,राणा या मेवाड़ी को,
या हाड़ा सरदार वीर या बोलूँ हाड़ीरानी को,
होंगे जब इस जंग के चर्चे,हाड़ा और मेवाड़ी का,
तब-तब नाम जुबाँ पर आ जाएगा हाड़ीरानी का,
तब-तब नाम जुबाँ पर आ जाएगा हाड़ीरानी का।4
!!!मधुसूदन!!!

Honge jab-jab charche is duniyaan mein koee naaree ka,
tab-tab naam jubaan par aa jaega haadeeraanee ka.
naam saloombar chhota sa ek kasba tha mevaad mein,
raajasinh raana ka shaasan chalata tha mevaad mein,
raav choodaavat chhota ek saamant vahaan par rahate the,
jinapar raana raajasinh jee bahut bharosha karate the,
boondee ke haada shaasak kee betee haadeeraanee thee,
bachapan se kartavy nibhaana seekhee haadeeraanee thee,
unakee jeevan dor bandhee choodaavat sang mevaad mein,
bhaagy kee rekha ja takaraee raanee kee mevaad mein,
dola aa pahuncha boondee se choodaavat ke aangan mein,
varshon baad khushee aayee thee veer choodaavat daaman mein,
charche honge jab-jab jag mein choodaavat balashaalee ka,
tab-tab naam jubaan par aa jaega haadeeraanee ka.
mehandee ka rang mita nahin pairon mein lagee mahaavar thee,
ek dooje ko samajh sake na nayan sharm kee chaadar thee,
shaadee ka gathajod khula na,na hee ristedaar gae,
kolaahal aangan mein thee apanon se the ghar-dvaar bhare,
tabhee achaanak shaardool sinh raana ka patr sunaaya,
aurangajeb ne kiya chadhaee ye sandesh sunaaya,
ghire hue hain mugal sahaayak phauj chalee hai dillee se,
choodaavat tum use rok lo phauj chalee jo dillee se,
aurangajeb ka haar sunishchit ghira hua mevaad mein,
jajiya bhaaree kar denge ham mugalon ko mevaad mein,
palabhar bhee na der kiya haada saradaar chala tha,
raanee ke sammukh jaate aankhon mein ashk bhara tha,
rundhe svar mein bol pada na sansay dil mein laana tum,
raanee main vaapas aaoonga mujhako nahin bhulaana tum,
raanee ne gam bhaamp svayan ka dard chhipa munh kholee,
dhany huee tum jaisa veer pati ko paakar bolee,
thaal saja deepak se chhatraanee ka pharj nibhaaya,
svayan saja choodaavat ko maathe par tilak lagaaya,
chhaatraani,senaanee kee patnee kab shok manaatee,
jang karo bin sansay ka ham naaree na ghabaraatee,
dhany hind kee naaree dard dabaakar tilak lagaatee hai,
ashkon ka sailaab chhupa sanmukh sabake muskaatee hai,
tyaag ke jab bhee charche honge duniyaan mein jab naaree ka,
tab-tab naam jubaan par aa jaega haadeeraanee ka.
shaadee ke din saat chhod raanee-saradaar chala tha,
aurangajeb kee fauj rokane seena taan khada tha,
prem mein vichalit baar-baar sandesha vah bhijavaata,
laut ke vaapas aaenge raanee ko vah samajhaata,
choodaavat ne patr sang ek baar nishaanee maangee,
vichalit dekh pati ko raanee ne bhee man mein thaanee,
jeevan me kartavy kathor jise jhukaata pal-pal moh,
karm dagar se bhatak na jaen raanee ke man aaya sonch,
doot ko raanee ne samajhaaya jo thee man mein thaanee
saump rahee hoon tumako jaakar de do unhen nishaanee,
pavan veg talavaar nikaala,khud ke gardan par de daala,
palabhar kee na der huee thee dhad se sheesh alag kar daala,
dhany veer raanee ne khud ko mita gyaan sikhalaaya,
mohapaash se mukt kiya kartavy ka bhaan karaaya,
veer kaee duniyaan mein honge charche jab bhee naaree ka,
tab-tab naam jubaan par aa jaega haadeeraanee ka.3
svarn thaal mein saja sheesh oopar suhaag ka chaadar,
sainik rota chala vahaan janh chadha moh ka chaadar,
dekh nishaanee tadap utha tha choodaavat saradaar,
aankhon se mamata ke badale baras utha angaar,
nathiya,bindee,kaan kee baalee, hothon par thee laalee,
tadap raha tha choodaavat sanmukh thee haadaaraanee,
mainne maanga ek nishaanee kya kar dee chhatraanee,
sheesh kaatakar saump diya toon kaisa hamen nishaanee,
mohaphaans se mukt hua tha,mugal sainy par toot chuka tha,
raanee ka mundamaal pahan mugalon ka haada kaal hua tha,
mugalon kee thee phauj apaar,raund raha haada saradaar,
samajh saka na phauj mugaliya kaisa sammukh aaya kaal,
udhar mevaadee jeet gae the aurangajeb kee haar huee,
idhar jaan thee jabatak tan mein haada kee talavaar chalee,
jang fatah kaa kise shreya dun,Rana ya Mewadi ko,
yaa Hada Sardar veer ya bolun Hadirani ko,
honge jab is jang ke charche,haada aur mevaadee ka,
tab-tab naam jubaan par aa jaega haadeeraanee ka,
tab-tab naam jubaan par aa jaega haadeeraanee ka.4
!!!Madhusudan!!!

53 thoughts on “HADIRANI/हाड़ीरानी

    1. सुक्रिया आपका पसंद करने के लिए।ऐसे कई इतिहास आज भी इतिहास के पन्नो में दफन हैं।

      Liked by 1 person

      1. जी, सत्य कहा आपने, इतिहास के पन्नो में बहुत से देशभक्तों की गाथा को छिपाया गया है और क्रूर शासकों को महान बताया गया है।

        Liked by 1 person

      2. बिल्कुल सही कहा।ये हमारे देश का दुर्भाग्य है।सुक्रिया पवन जी अपने विचार साझा करने के लिए।

        Liked by 1 person

  1. हाडी रानी का इतिहास पहली बार सुना … एक नई जानकारी के साथ खूबसूरत रचना , बहुत खूब

    Liked by 1 person

      1.  Hello☺️
        I have nominated you for Get To Know Me tag🌼🌼🌼 now it is up to you to participate 🎊🎊🎊https://poeticbells.wordpress.com/2018/06/03/get-to-know-me-tag😊😊😊/

        Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s