Category: Dharm-Parampra

HOLIKA DAHAN/ होलिका-दहन

HOLIKA DAHAN/ होलिका-दहन

Images Credit ; Google सत्य की होती जीत सदा,होली की सत्य कहानी, सदियों से हम गाते हर बच्चों को याद जुबानी, आ दुहराते हैं, होली की सत्य कहानी फिर से गाते हैं। हिरणकश्यपु एक असुर धरती पर राज किया था, खुद को ही भगवान बोल वह अत्याचार किया था, नर,नारी संग बच्चे डर से उसको … Continue reading HOLIKA DAHAN/ होलिका-दहन

Kaisi Nafrat/कैसी नफरत

Kaisi Nafrat/कैसी नफरत

  Image Credit : Google जीवन में जिसने ना देखा दर्द कभी इंसान का, कहाँ हुआ कब दर्शन उसको अल्लाह या भगवान् का, कहाँ हुआ कब दर्शन उसको अल्लाह या भगवान् का| कोई मधुर अजान सुनाता,कोई घंट बजाता, कोई नफरत की बातें ही जन-जन में फैलाता, मतलब समझ सका ना जिसने गीता और कुरआन का, … Continue reading Kaisi Nafrat/कैसी नफरत

Bahrapan/बहरापन

Bahrapan/बहरापन

Image credit : Google Click here to read part 1 बहरी हो गयी क्या सरकार, दिखती क्यों ना अत्याचार, आ हम ध्वनियन्त्र लगा दें चल कर संसद पर, कितना दर्द हमें चल उन्हें दिखा दें संसद पर || एसी कार में नेतागण, चलते करके सीसा बंद, महल जहां पर उनकी होती, लाउडस्पीकर पर पाबन्द, चल … Continue reading Bahrapan/बहरापन

Dhwani Pradhshan/ध्वनि प्रदूषण

Dhwani Pradhshan/ध्वनि प्रदूषण

Image credit: Google धर्मांध में देखो शोर बढ़ा, ध्वनि राक्षस चहुँओर बढ़ा, अब और न इंसाँ खुद का कब्र बना रे, आ मंदिर,मस्जिद,चर्च और गुरुद्वारे, सब धर्मस्थल से ध्वनि यंत्र हटा रे।। क्यों अंधा बना जहान, बनाता जन्नत को श्मशान, जोड़ हर बस्तु को धर्मो से, लड़ता है सारा इंसान, बस अब और न बहरा … Continue reading Dhwani Pradhshan/ध्वनि प्रदूषण

Kaisi Nafrat

Kaisi Nafrat

Image Credit : Google मात-पिता के चरणों में है तीरथ चारो धाम, दिल से उनको प्रेम करूँ,उनको मानू भगवान, गलत क्यों कहते हो,2 है कैसा धर्म,ईमान गलत तुम कहते हो?२ तीस साल की हुयी नहीं थी, प्रियतम छोड़ गए थे, मात-पिता एकमात्र सहारा, वे भी गुजर गए थे, तीनो की तस्वीर टँगी है, लगता जैसे … Continue reading Kaisi Nafrat

Rawan/रावण

Rawan/रावण

Image Credit: Google बिशेश्रवा का पुत्र,पुलत्स्य का पौत्र, ब्राम्हण कुल जन्मा,ब्रम्हा का परपौत्र, जहाँ में कौन जो इस नाम से अनजान है, रावण जिसका नाम ही उसकी पहचान है।। संगीतबद्ध किया वेदों को, नाम था रावण, परमभक्त शिव का, उसका नाम था रावण, महापराक्रमी,शास्त्रों का प्रखर ज्ञाता, जो महाज्ञानी कहलाया, नाम था रावण, देवताओं को … Continue reading Rawan/रावण

KAISA PANCH/कैसा पंच

KAISA PANCH/कैसा पंच

जब नफरत दिल में भरे हुए, अजान सुनाकर क्या होगा, जब दिल में तेरे प्रेम नहीं, घँटे को बजाकर क्या होगा। संसार बनाया है जिसने, हमसब का भी निर्माण किया, हर जीव में जान बसी जिसकी, उसने ही हम में प्राण दिया, इतना जब हम ना समझ सके, पूजन भगवन का क्या होगा, जब दिल … Continue reading KAISA PANCH/कैसा पंच