Tag: Beti Ka Janm

Dahej (Part-5)

Dahej (Part-5)

Click here to read Part-4 एक डाल पर गुलशन में दो कलियाँ है मुश्कायी, बधाई हो बधाई आज पूरी हुई सगाई। छूट गयी अब कथा कहानी, बिटिया ब्यस्त मोबाइल में, भैया ने दी फोन गिफ्ट में, राखी की बंधवाई में, ब्यस्त सभी अपने कमरे में, मात-पिता को नींद कहाँ, जब तक ब्याह नहीं हो जाती, … Continue reading Dahej (Part-5)

Advertisements
Beti Ki Sagayee (Part-4)

Beti Ki Sagayee (Part-4)

Click here for read part-3 एक डाल पर गुलशन में दो कलियाँ है मुश्कायी, बधाई हो बधाई दोनों की है आज सगाई। माँ की ममता,बाप की खुशियां, दरवाजे को चूम रही, दादा-दादी मगन ब्याह को, खुशियाँ घर मे गूंज रही, सखियों के बीच घिरी लाडली, कुछ शर्माती,मुस्काती, कब आएगी मधुर घड़ी, सब आंखें उसकी बतलाती, … Continue reading Beti Ki Sagayee (Part-4)

Beti Ka Janm (Part-3)

Beti Ka Janm (Part-3)

Click here to read part -2.     एक डाल पर गुलशन में दो कलियाँ है मुश्कायी, बधाई हो बधाई खुशियाँ सुन यौवन शरमाई। दोनों रूप की मूरत, पापा पढ़ा-लिखा गुणवान किया, चलना,हंसना,शर्म हया माँ, घर का सारा ज्ञान दिया, रोज कहानी दोनों सुनती, दादी माँ के आंचल में, संस्कार और धर्म सिखाया, दादी माँ … Continue reading Beti Ka Janm (Part-3)

Beti Ka Janm (Part-2)

Beti Ka Janm (Part-2)

OpClick here to read part-1  Cont.-----part-2 एक डाल पर गुलशन में दो कलियाँ है मुश्कायी, बधाई हो बधाई घर में जुड़वा बिटिया आई। गूंज उठी किलकारी से, आंगन में रौनक आयी, आँगन में दो सजे खटोले, बिटिया लगन लगाई, शनैः-शनैः दिन गुजर रहे थे, रूप रंग भी निखर रहे थे, साथ में सोना,खेल,पढ़ाई, कदम ताल … Continue reading Beti Ka Janm (Part-2)

Beti ka Janm (Part1)

Beti ka Janm (Part1)

एक डाल पर गुलशन में दो कलियाँ है मुश्कायी, बधाई हो बधाई घर में जुड़वा बिटिया आई। बिन बिटिया का आँगन सुना, बिन बहना के भाई, बिन घरनि घर भूत बसे, बहना बिन सुनी कलाई, सावन था सुना बरसों से, खुशियों की बरसात हुई, दो पुश्तों के बाद जहाँ की, रौनक घर में खास हुई, … Continue reading Beti ka Janm (Part1)