Tag: Manav Trishna

Manav Trishnaa

Manav Trishnaa

कैसा अपना हाल किया है, संकट जग पर डाल दिया है, आँखें खोल जगत को देखो, ऐ पागल नादान, बच्चा तरसे दूध को जग में पानी को इंसान, बच्चा तरसे दूध को देखो पानी को इंसान || देखो मोर, पपीहा गाये, कोयल मीठी तान सुनाये, रंग बिरंगी पंछी के संग, मानो स्वागत गान सुनाये, मन … Continue reading Manav Trishnaa