Tag: Pariwartan

परिवर्तन/Pariwartan

परिवर्तन/Pariwartan

आशियाना बदलते रहे उम्र भर, कुछ भी बदला नहीं, हम बदलते रहे धर्म और जातियां, कुछ भी बदला नहीं । हम अकेला चले कारवां बन गया, देखते-देखते ये जहां बन गया, जब जुआरी थे हमको जुआरी मिला, जब बने हम शराबी शराबी मिला, हम जैसा थे वैसा जहां बन गया, कुछ भी बदला नहीं, हम … Continue reading परिवर्तन/Pariwartan