Tag: Sarhad

Sarhad

Sarhad

सरहद उत्तर, दक्षिण, पूरब, पश्चिम है दुश्मन के घाट-घाट, मेरे राम - रहीमा,............ थाम ले हमरी बांह ......रे मोरे राम रहीमा.......... थाम ले हमरी बांह || ये धरती है राम का जिसने रावण का सहार किया, भूल गयी दुनियां कृष्ना ने यहीं से गीता ज्ञान दिया,2 इस पावन धरती पर अब तो दुश्मन देखे झांक-झाँक, मेरे … Continue reading Sarhad