Tag: Tulsidas

प्रभु रामजन्म-रामनवमी

प्रभु रामजन्म-रामनवमी

Image Credit :Google भय प्रगट कृपाला दीनदयाला कौसल्या हितकारी। हरषित महतारी मुनि मन हारी अद्भुत रूप बिचारी। लोचन अभिरामा तनु घनश्याम निज आयुध भुज चारी। भूषन बनमाला नयम बिसाला सोभासिंधु खरारी।। कह दुइ कर जोरी अस्तुति तोरी केहि बिधि करौं अनंता। माया गुन गयानतीत अमाना बेद पुरान भनंता।। करुना सुख सागर सब गुन आगर जेहि … Continue reading प्रभु रामजन्म-रामनवमी

Advertisements
Tulsidas (ek Prem katha) pad men

Tulsidas (ek Prem katha) pad men

तुलसीदास एक प्रेम कथा........पद में काली अंधेरी बादलों से गरजती शाम, बाहर से घर आना,अपने प्राणप्रिये को घर में नहीं पाना एवं आस- पड़ोस के द्वारा उसके पिता की आने की खबर सुन तुलसी अपने व्यग्र दिल की बातें सुन बिना किसी संकट को सोंचे उफनती नदी को पार कर खिड़की के रास्ते अपने नयी … Continue reading Tulsidas (ek Prem katha) pad men