Tag: Unexpected..M

DAGABAAJ YARA (Antim bhag)

DAGABAAJ YARA (Antim bhag)

Click here to read part..1 हमने जिनसे इश्क किया वो दगाबाज निकला, उनके दिल में भी एक,छोटा सा दिमाग निकला। पहले जी भर मैंने रोया, बिखरे लाखों ख्वाब जो बोया, जन्नत क्यों समझा मरघट को, कैसी डाल के नीचे सोया, अब भी हमदम पास खड़ी थी, हंसकर मुझको देख रही थी, वो नादान थी ये … Continue reading DAGABAAJ YARA (Antim bhag)

Advertisements
DAGABAAJ YARA

DAGABAAJ YARA

हमने जिनसे इश्क किया वो दगाबाज निकला, उनके दिल में भी एक छोटा सा दिमाग निकला, हमने जिनसे इश्क किया वो दगाबाज निकला। मैं था राही एक दिन, राह में थककर चूर हो गया, रास्ता रेत भरा था, सिर पर सीधा धुप हो गया, दिख गयी दूर पेड़ की डाली, थोड़ी आशा मन में जागी, … Continue reading DAGABAAJ YARA