Images

Maa ka Pyaar

Maa ka Pyaar

आज इंसान अपनों से कोसों दूर रोजी-रोटी की जुगाड़ में चला जा रहा है,जहाँ अपने माँ बाप को चाहकर भी नहीं रख पाता। माँ-बाप को भी अपना गांव छोड़ा नहीं जाता।अचानक वह इंसान अपनी माँ की मृत्यु की खबर सुन तड़पने लगता है। अब आगे उसी की जुबानी------- कितने थे अंजान प्रेम से,आज ये हमने … Continue reading Maa ka Pyaar

Advertisements
बचपन की यादें/Bachpan ki yaaden

बचपन की यादें/Bachpan ki yaaden

Image Credit: Google नटखट थे पर अच्छे थे, क्योंकि यारों हम बच्चे थे। आ रूठ गए हम,मुझे मनाकर देखो ना, दिल ब्याकुल है तुम गले लगाकर देखो ना, हम भी लड़ते पर,पल में मिलजुल हँसते थे, नफरत दिल में कल तक ऐसे ना रखते थे, कल सीधे थे ,हम सच्चे थे, क्योंकि यारों हम बच्चे … Continue reading बचपन की यादें/Bachpan ki yaaden

Maa-Baap

Maa-Baap

कितना कष्ट होता है मिहनत से कमाने में, बिलकुल ही अनजान थे हम पापा के जमाने में। हो गयी है ज्ञान जो कहानी घटी मेले में, मेरी एक मुश्कान पर लुटायी पैसे मेले में, कितनी थी शरारतें कितनी ख्वाहिशें हमारी थी, मेले के सामान सारे नज़रों में उतारी थी, कंधे पे सवार जैसे मेला ही … Continue reading Maa-Baap

Smart City

Smart City

झोपड़ी रहे ना रहे स्मार्ट सिटी बनाएंगे, पटरी पुरानी है तो क्या हुआ, बुलेट ट्रेन दौड़ाएंगे, दुख है कुछ गाडियां उलट रही, दुख है कुछ ज़िंदगियाँ बिखर रही, मगर चिंता की कोई बात नहीं, खजाने में कोई कमी नहीं, मुवावजे का हम एलान कर देंगे, सैनिक हैं हमारे पास, बाकी काम कर देंगे, पैदा हुए … Continue reading Smart City