Links

Bebasi

Bebasi

Image credit: Google उस पार है तू इस पार हूँ मैं,अब कैसे तुझे बुलाऊँ मैं, सौतन बैरी बिकराल नदी,है बीच में कैसे आऊं मैं, तन भीगा दिल में आग लगी, मिलने की मन में प्यास जगी, दिल करता उड़कर आऊँ मैं, पर पंख कहाँ से पाऊं मैं, बरसों की तड़प है बीच में नद, दुरी … Continue reading Bebasi

Advertisements
Jindgi/जिंदगी

Jindgi/जिंदगी

कलकल बहता पानी, स्थिर मोह लिया मन मेरा, सुदबुध खो बैठे, थे तुम बहते पानी जैसे, तेरे हो बैठे।। कल तक हम थे बृक्ष सामान, फिर भी भरा हुआ अभिमान, कितने आँधी बनकर आये, फिर भी हमें डिगा ना पाये, हम थे जड़वत सील के जैसे, विश्वामित्र भी कह लो वैसे, फिर तूँ पास मेनका … Continue reading Jindgi/जिंदगी

Beti Ka Janm (Part-2)

Beti Ka Janm (Part-2)

OpClick here to read part-1  Cont.-----part-2 एक डाल पर गुलशन में दो कलियाँ है मुश्कायी, बधाई हो बधाई घर में जुड़वा बिटिया आई। गूंज उठी किलकारी से, आंगन में रौनक आयी, आँगन में दो सजे खटोले, बिटिया लगन लगाई, शनैः-शनैः दिन गुजर रहे थे, रूप रंग भी निखर रहे थे, साथ में सोना,खेल,पढ़ाई, कदम ताल … Continue reading Beti Ka Janm (Part-2)

PITA KAA MOL

PITA KAA MOL

दुःख नहीं देखा जिसने वो,सुख की कीमत क्या जाने, धुप में जलते पावँ नहीं वो छावँ की कीमत क्या जाने, क्या जाने माँ-बाप की कीमत, जिनके किश्मत में रब हैं, सिर पर बाप का हाथ नहीं वो कीमत उनका पहचाने। वैसे तो कई रिश्ते हैं अपने सारे संसार में, मगर बाप के रिश्ते का कोई … Continue reading PITA KAA MOL

Megha Ajaa Man Tarse

Megha Ajaa Man Tarse

आसमान में गरज रहा क्यों मेघा रे, तेरी धरती प्यासी प्यास बुझा जा रे| नजरों से था दूर याद मैं करती थी, रात-दिन आने की राह निरखती थी, पास में आकर दूर समझ ना पाऊँ मैं, अपनी दर्द को कैसे अब दिखलाऊँ मैं, आँखमिचौली धुप से खेल ना मेघा रे, तेरी धरती प्यासी प्यास बुझा … Continue reading Megha Ajaa Man Tarse